भारत ने गुकेश और लिरेन के विश्व चैम्पियनशिप मैच की मेजबानी का दावा किया

भारत ने डी गुकेश और मौजूदा चैम्पियन चीन के डिंग लिरेन के बीच इस साल नवंबर दिसंबर में होने वाले विश्व शतरंज चैम्पियनशिप मुकाबले की मेजबानी की दावेदारी कर दी है। सत्रह वर्ष के गुकेश पिछले महीने कैंडिडेट्स टूर्नामेंट जीतकर विश्व खिताब के सबसे युवा चैलेंजर बने। वह 20 नवंबर से 15 दिसंबर के बीच लिरेन का सामना करेंगे और अगर भारत को मेजबानी मिल जाती है तो यह मुकाबला चेन्नई में होगा। फिडे के सीईओ एमिल सुतोवस्की ने पीटीआई से कहा ,‘‘ हमें भारत से मेजबानी की दावेदारी मिल गई है।’’ अभी तक किसी और ने दावेदारी नहीं की है और इसके लिये समय सीमा 31 मई तक की है। समझा जाता है कि सिंगापुर दावेदारी कर सकता है लेकिन उसने अभी तक ऐसा किया नहीं है। सुतोवस्की ने कहा ,‘‘ अभी तक किसी देश ने दावेदारी नहीं की है लेकिन समय सीमा इस सप्ताह के आखिर तक है। इसके बाद अगले सप्ताह फिडे की परिषद की बैठक होगी और पूरी प्रक्रिया का पालन करके मेजबान तय किया जायेगा।’’ एआईसीएफ अगर मेजबानी हासिल करता है तो उसे 71 करोड़ रूपये खर्च करने होंगे। टूर्नामेंट 25 दिन तक होगा और नियमों को लेकर मंजूरी एक जुलाई तक पूरी हो जायेगी। फिडे द्वारा दी जाने वाली कुल ईनामी राशि 20 करोड़ से अधिक है। भारत ने आखिरी बार विश्व चैम्पियनशिप की मेजबानी 2013 में चेन्नई में की थी जब मैग्नस कार्लसन ने विश्वनाथन आनंद को हराकर खिताब जीता था।

May 29, 2024 - 17:38
 0  14
भारत ने गुकेश और लिरेन के विश्व चैम्पियनशिप मैच की मेजबानी का दावा किया

भारत ने डी गुकेश और मौजूदा चैम्पियन चीन के डिंग लिरेन के बीच इस साल नवंबर दिसंबर में होने वाले विश्व शतरंज चैम्पियनशिप मुकाबले की मेजबानी की दावेदारी कर दी है। सत्रह वर्ष के गुकेश पिछले महीने कैंडिडेट्स टूर्नामेंट जीतकर विश्व खिताब के सबसे युवा चैलेंजर बने। वह 20 नवंबर से 15 दिसंबर के बीच लिरेन का सामना करेंगे और अगर भारत को मेजबानी मिल जाती है तो यह मुकाबला चेन्नई में होगा।

फिडे के सीईओ एमिल सुतोवस्की ने पीटीआई से कहा ,‘‘ हमें भारत से मेजबानी की दावेदारी मिल गई है।’’ अभी तक किसी और ने दावेदारी नहीं की है और इसके लिये समय सीमा 31 मई तक की है। समझा जाता है कि सिंगापुर दावेदारी कर सकता है लेकिन उसने अभी तक ऐसा किया नहीं है।

सुतोवस्की ने कहा ,‘‘ अभी तक किसी देश ने दावेदारी नहीं की है लेकिन समय सीमा इस सप्ताह के आखिर तक है। इसके बाद अगले सप्ताह फिडे की परिषद की बैठक होगी और पूरी प्रक्रिया का पालन करके मेजबान तय किया जायेगा।’’ एआईसीएफ अगर मेजबानी हासिल करता है तो उसे 71 करोड़ रूपये खर्च करने होंगे।

टूर्नामेंट 25 दिन तक होगा और नियमों को लेकर मंजूरी एक जुलाई तक पूरी हो जायेगी। फिडे द्वारा दी जाने वाली कुल ईनामी राशि 20 करोड़ से अधिक है। भारत ने आखिरी बार विश्व चैम्पियनशिप की मेजबानी 2013 में चेन्नई में की थी जब मैग्नस कार्लसन ने विश्वनाथन आनंद को हराकर खिताब जीता था।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow