Bada Mangal 2024: जानें कब-कब है बड़ा मंगल, आज ही नोट कर लें तिथि

व्यक्ति के संकट हरने वाले संकटमोचन हनुमान जी को ज्येष्ठ का महीना बेहद प्रिय है। क्योंकि इस माह में बड़ा मंगल पड़ता है। ज्येष्ठ माह में पड़ने वाले प्रत्येक मंगलवार को बड़ा मंगल के नाम से भी जाना जाता है। इस शुभ अवसर पर हुनमान जी की पूजा होती है। ज्योतिष के मुताबिक, बड़ा मंगल का व्रत रखने से जातक के सभी प्रकार के दुख और संकंट दूर होते हैं और सुख-समृद्धि का आशीर्वाद प्राप्त होता है। चलिए आपको बताते हैं साल 2024 में बड़ा मंगल कब-कब पडेगा?साल 2024 में कितने बड़े मंगल हैं?- पहला बड़ा मंगल- 28 मई 2024- दूसरा बड़ा मंगल- 4 जून 2024- तीसरा बड़ा मंगल - 11 जून 2024- चौथा बड़ा मंगल - 18 जून 2024बड़ा मंगल का महत्वकहा जाता है कि एक बार अवध के नवाब मोहम्मद अली शाह के पुत्र की तबियत अधिक खराब हो गई थी। कापी इलाज के बाद भी पुत्र के स्वास्थ्य में कोई सुधार देखने को नहीं मिला। ऐसे में लोगों ने लखनऊ के अलीगंज के हनुमान मंदिर जाने की राय दी। उस समय हनुमान जी की कृपा से अवध के नवाब मोहम्मद अली शाह के पुत्र की तबीयत ठीक हो गई। मोहम्मद अली शाह अपने पुत्र के स्वास्थ्य को देख अधिक प्रसन्न हुए। इसके पश्चात उन्होंने बजरंगबली की पूजा की और गुड़ और धनिया का भोग लगाया। साथ ही मंदिर में प्याऊ भी लगवाया। तभी हर वर्ष बड़ा मंगल का पर्व मनाया जाता है। इस खास अवसर पर अधिक संख्या में श्रद्धालु हनुमान जी के दर्शन के लिए मंदिर आते हैं।

May 16, 2024 - 12:04
 0  32
Bada Mangal 2024: जानें कब-कब है बड़ा मंगल, आज ही नोट कर लें तिथि
व्यक्ति के संकट हरने वाले संकटमोचन हनुमान जी को ज्येष्ठ का महीना बेहद प्रिय है। क्योंकि इस माह में बड़ा मंगल पड़ता है। ज्येष्ठ माह में पड़ने वाले प्रत्येक मंगलवार को बड़ा मंगल के नाम से भी जाना जाता है। इस शुभ अवसर पर हुनमान जी की पूजा होती है। ज्योतिष के मुताबिक, बड़ा मंगल का व्रत रखने से जातक के सभी प्रकार के दुख और संकंट दूर होते हैं और सुख-समृद्धि का आशीर्वाद प्राप्त होता है। चलिए आपको बताते हैं साल 2024 में बड़ा मंगल कब-कब पडेगा?
साल 2024 में कितने बड़े मंगल हैं?
- पहला बड़ा मंगल- 28 मई 2024
- दूसरा बड़ा मंगल- 4 जून 2024
- तीसरा बड़ा मंगल - 11 जून 2024
- चौथा बड़ा मंगल - 18 जून 2024
बड़ा मंगल का महत्व
कहा जाता है कि एक बार अवध के नवाब मोहम्मद अली शाह के पुत्र की तबियत अधिक खराब हो गई थी। कापी इलाज के बाद भी पुत्र के स्वास्थ्य में कोई सुधार देखने को नहीं मिला। ऐसे में लोगों ने लखनऊ के अलीगंज के हनुमान मंदिर जाने की राय दी। उस समय हनुमान जी की कृपा से अवध के नवाब मोहम्मद अली शाह के पुत्र की तबीयत ठीक हो गई। मोहम्मद अली शाह अपने पुत्र के स्वास्थ्य को देख अधिक प्रसन्न हुए। 
इसके पश्चात उन्होंने बजरंगबली की पूजा की और गुड़ और धनिया का भोग लगाया। साथ ही मंदिर में प्याऊ भी लगवाया। तभी हर वर्ष बड़ा मंगल का पर्व मनाया जाता है। इस खास अवसर पर अधिक संख्या में श्रद्धालु हनुमान जी के दर्शन के लिए मंदिर आते हैं।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow